Blog Ke Liye Custom Domain Name Kya Hai Aur Kyu Jaruri Hai?

Blog Ke Liye Custom Domain Name Kyun Jaruri Hai? हम में से जो भी blogger हैं, उन्होंने BlogSpot.com या WordPress.com से ब्लॉगिंग की दुनिया में कदम रखा हैं। और नए blogger भी इन्ही platform के जरिये शुरुआत करते हैं।

Custom Domain Name
For Example Blogspot Blog Ke Liye Custom Domain Name Kyu Jaruri Hai?

Because इन प्लेटफार्म पर ब्लॉगिंग की शुरुआत करने के लिये लगभग निवेश शून्य होता हैं। यह बिलकुल free हैं। और साथ में यह काफी हद तक सुरक्षित भी होता हैं।

So किसी भी blogger को यह सिखने में भी काफी आसानी होती हैं। अगर इसमें हमसे कोई गलती भी हो जाए तो हम बड़ी आसानी से सुधार सकते हैं।

इसी लिये हम आज इस post में एक गलती / topic के बारे में बात करेंगे जो अक्सर नए blogger अपनी ब्लोगिंग की शुरूआती दौर में कर देंते हैं। और यह topic “Custom Domain name” है। क्यूंकि custom domain नाम देखने में थोडा professional लगता है।

जब कोई नया blogger अपने blog के setup के समय WordPress.com या BlogSpot पर signup करते हैं। तो उनको एक domain name मिलता हैं। For example –

  • yourblogname.blogspot.com
  • yourblogname.wordpress.com

आब आप यहाँ देख सकते है, की यह domain name थोडा सा देखने में अटपटा लग रहा है। और यह professional भी नही लग रहा हैं।

बहुत से ऐसे blogger जो ब्लोगिंग के लिये free blogging platform का उपयोग करते हैं। उनमे से अधिकत्तर custom domain name पर पैसा खर्च करना पसंद नहीं करते हैं। और वे sub-domain पर ही काफी समय तक अपना blog को बनाये रखते हैं।

Because उन्हें लगता है, की बाद में वो कभी भी अपने अपने सब-डोमेन को कस्टम डोमेन में बदल लेंगे। और यदि वो ऐसा सोचते हैं। की यह possible है, तो यह बिलकुल भी सच नहीं है। अगर ऐसे करते भी हैं, तो उनके सामने बहुत सारी समस्या उत्पन्न हो जायेगी, जिस से निपटना आसान नहीं होगा।

Custom domain name के बिना क्या नुक्सान हैं?

अगर हम बाद मे sub domain name से custom domain name में आते हैं। तो हमें कई तरह के नुक्सान होंगे।जिसे में आगे आपको step by step आप को बताऊंगा।

  • मान लेते है, की यदि कोई blogger पिछले एक वर्ष से अपने blog के लिये sub domain name का उपयोग कर रहा है। और उसके इस blog पर काफी web traffic आ रहा है। तो उसके ब्लॉग ने कुछ डोमेन अथॉरिटी ( DA ) तो बनाया ही होगा। But यदि वो अपने blog के सब डोमेन नाम को कस्टम डोमेन नाम में बदल देता है, तो उसके DA फिर से जीरो ( 0 ) हो जायेंगे। पुराने सारे DA ख़त्म हो जायेंगे।
  • जब आप अपने blog को search engine मे search करेंगे, तो आपका नया ब्लॉग एड्रेस कुछ समय के लिये सर्च इंजन में दिखाई नहीं देगा। Because google को पुराने domain से नए डोमेन ( 301 redirection के बाद ) पर जाने में समय लगता हैं।
  • आपको अपने नए ब्लॉग नाम को सर्च इंजन में show करने के लिये Google Analytics और Webmaster Tools account को update करने की जरुरत होगी।
  • आपको फिर से सभी search engine में sitemap को submit करना होगा।
  • अपने blog address को सभी social media profile में फिर से update करना होगा।
  • जब आप sub-domain से custom domain में शिफ्ट होंगे तो आपको ब्लॉग को फिर से Re-brand करना होगा।
  • इसके अलावा आपने पुराने blog पर जितने भी तरह के backlink बनाये होंगे, वो सभी खत्म हो जायेगा। आपको दुबारा फिर से इस पर मेहनत करनी पड़ेगी।

यहाँ तक तो समझ ही गए होंगे की नुक्सान क्या क्या हैं? अब हम आगे जानगे की इसके फायदे क्या क्या हैं?

Custom domain name के फायदे क्या क्या हैं?

  • आप google search engine में बेहतर प्रदर्शन कर सकते है because सर्च इंजन मुख्य रूप से google, याहू .blogspot.com या .wordpress.com के बजाय कस्टम डोमेन को ज्यादा अहमियत देते हैं।
  • इसके अलावा आपके AdSense account की जल्दी approve होने की संभावना भी काफी हद तक बढ़ जायेगी।
  • आप Gmail या Yahoo email के बजाये, contact@yourdomain.com जैसी कस्टम ईमेल id भी बना सकते हैं।
  • लम्बे चोडे ब्लॉग नाम के बजाये आसान और छोटे domain नाम मिल जायेगा। जो किसी को भी बड़ी आसानी से याद रहा सकता है।
  • Root level domain ( कस्टम डोमेन ) अधिक प्रभावशाली और विस्वसनीय लगते हैं। यदि आप ब्लोगिंग के जरिये पैसा बनाना चाहते है तो free sub-domain की बजाये Root level domain का हो चुनाव करें।
  • सबसे अच्छी बात तो यह है की आपके पास पहले दिन से एक ब्रांड नाम होगा।

Also Read : WordPress Admin-ajax Server Load Kam Kaise Kare

Also Read : Newspaper Theme Ke Sath 100% PageSpeed Kaise Paaye

Custom domain name के लिये कुछ महत्वपूर्ण बाते

जब मैंने ब्लॉगिंग शुरू किया था तो मैने ब्लॉगस्पॉट ब्लॉग पर digitalhelp के नाम से blog शुरु किया था। और जब में BlogSpot से wordpress पर जाना चाहा तो यह domain नाम “digitalhelp” किसी ने पहले ही ले लिया था।

So मुझे custom domain name “teachguidehindi.com” के नाम से दुबारा अपना blog बनाना पड़ा। और काफी मेहनत करना पड़ा। यदि में पहले ही custom domain को चुन लेता तो मुझे बाद में यह सब मेहनत नहीं करना पड़ता।

पर कोई बात नहीं आप यहाँ मेरी गलती से सिख सकते हैं। So ताकि आप को यह सब मेहनत दुबारा से नहीं करनी पड़े। इसी लिये बाद में domain लेने के बजाये आप शुरु में ही डोमेन नाम ले लें।

Custom Domain Name कैसे चुने?
  • लम्बे लम्बे domain नाम की जगह छोटे डोमेन नाम रखे।
  • ऐसे डोमेन name को चुने जिनकी spelling easy हो जिनको आसानी से याद रखा जा सके।
  • अगर आप  free sub-domain से wordpress पर जा रहे हैं तो domain नाम को same रखे। for example – teachguidehindi.blogspot.com की जगह teachguidehindi.com यदि संभव हो तो नहीं तो इस से मिलता जुलता भी रख सकते हैं।
  • जिस विषय पर आप अपना ब्लॉग बनाना चाहते है। उसी विषय से मिलता जुलता शब्द से डोमेन नाम रखे।

Also Read : 7 Best WordPress Backup Plugin Website Ke Liye 2017

Finally – Custom Domain Name

So आशा करता हूँ, की आप यहाँ तक डोमेन नाम क्या है? और साथ ही इसको use करने के क्या क्या फायदा है? अच्छी तरह से समझ गये होंगे।

अगर आपके पास custom domain name use करने के अन्य कारण है तो कृपया comment box में मुझे जरुर बतायें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.